99) हौसलों के देश में

98 ) कल

97) दिल के मेहमान

95) वादे नहीं करते

94) बेहाल ज़िन्दगी के

93) क्या सब रुक जाते है ?

92) मेरे शब्द-मेरे विचार

91) लता , लता जी ना होती

90) हम पी के शराब आ गये

89) चलना है चलना है , चलना मगर

88 ) बापू का ख़त

87) खत्म कर गया

86) तुम ही थे

85) आफतों का शहर

84) कुछ कागज़ थे अज़ीज़

83) मन की चिड़िया

82) रुह-ओ-जान हो गया है

81) कभी कभी यूँ भी

80) लो अब उठता हूँ , लो अब जाऊँ

79) राधे रानी राह दे

78 ) मुसीबतें हमें पाल लेती है

77) बुखार की बातें

76) खाक होने से पहले

75) ज़माने वाले

74) वही तो महान है

73) मुस्कान पहन कर देख ज़रा

72) एक मैं और एक मैं

71) अनूभूति में अब हम भी

70) हेम की ज्योत्स्ना

69) 28 march-happy birthday to me

68 ) मिठी बोली हो गई

67) कह कर आप हंसे

66) कुछ ना मिला

65) हंसीन था ये सपना

64) उडती तितली की तरह

63) लम्हो का एक साल

62) वो दो आँखे ,वो मुस्कान

61) हम वो राही हैं जिन्हे

60) कविता हूँ मैं

59) जीवन बसन्त

58 ) मेरी प्रथम वेबसाइट

57) के तुम आ गये

56) जिन्दा है ईशान

55) बुढ़ापा

54) शोक सन्देश

53) 19000-hit-in-10-months-on-54-post

52) शुक्रिया आप सभी पढ़ने वालो का

51) दीप कहाँ है तू ?

50) जिन्दगी में बहुत काम आया हमें

49) HAPPY NEW YEAR

48 ) भीड़ में भी जब कोई तुम्हें तन्हा दिखाई दे

47) इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं

46) तुम ख़्यालो में हमको बुलाया करो

45) सुनाता रहा हूँ तुझे दिल की बातें

44) बिछुड़ ने की कोई रस्म नहीं होती

43) देखिए आप हमें यूँ ना सताया कीजे

42) सच्ची दीपावली

41) रिदा बदला ना करो

40) मेरी कविता बोली मुझसे

39) कत्लें आम किया

38 ) ग़म पे मेरे वाह-2 किये जाते हैं

37) राम कहाँ से लाऊ

36) मैं दो कदम चलता

35) दीप और अन्धेरा;

34) चन्द शेर-2

33) जिन्दगी मौत और हम ।

32) आओ मिलाउ मुझको तुम से

31) खिज़ां को बुलाने चलो

30) प्रश्न तेरी है कीमत क्या ?

29) दोस्ती हो ही गई

28 ) बेड़ीयाँ बाकी अभी है और भी

27) गर्व से कहे के हम भारतीय है।

26) PROUD TO BE AN INDIAN

25) जा रहा है मेरा देश

24) स्वतन्त्रता संग्राम से थका देश

23) मेरा अमरीका मय भारत

22) क्या देश को बांट रहे Reality Live shows ?

21) वो एक लड़की

20) दोस्त के नाम — एक शेर

19) मैं कौन हूँ

18 ) ये शिक्षक कहलाते है

17) Teachers Day ki duniya mein GURU-PURNIMA

16) हे जीव जगत के मनुज सुन

15) खुदा से मिलने की ज़िद कर बैठा

14) झोंपड़े कहते है

13) मेरा परिचय

12) यादों के नगमें सुनाई देते है

11) उड़ना हवा में खुल कर लेकिन

10) दीप तू अब रोशन हो

9) ये शहर मेरा

My poems

8 ) चन्द शेर

7) दीवाने का घर

6) कुछ पन्नों को छोड के अब

5) लेंगे ना तेरा नाम

4) मन विजय करने चला

3) मैंनें देखा बन के पंछी

2) हुनर मुझमैं नहीं

1 ) कल्पनायें सारी

3 responses »

  1. हई ज्योत्स्ना मेरा नाम विजय गोस्वामी है मैं web developer हूँ नॉएडा मैं!
    मैं भी कभी कभी कविता लिखता हूँ!
    पर अभी तक किसी को बाटने में आनन्द नहीं लिया!
    या यूँ कहो मुझे वक़्त नहीं मिलता है!
    आज मैंने आपकी पोएम देखि है बहुत आछी लगी!
    इसलिए मैं आपके लिए एक पोएम सेंड करना चाहता हूँ!

    देखा जो आईना तो मुझे सोचना पड़ा

    “देखा जो आईना तो ,मुझे सोचना पड़ा
    ख़ुद से न मिल सका तो मुझे सोचना पड़ा
    उसका जो ख़त मिला तो मुझे सोचना पड़ा
    अपना सा वो लगा तो मुझे सोचना पड़ा
    मुझको था यह गुमान कि मुझी में है एक अदा
    देखी तेरी अदा तो मुझे सोचना पड़ा
    दुनिया समझ रही थी कि नाराज़ मुझसे हैं
    लेकिन वो जब मिला तो मुझे सोचना पड़ा
    एक दिन वो मेरे ऐब गिनाने लगा करार
    जब ख़ुद ही थक गया तो मुझे सोचना पड़ा!”

  2. jyotsana ji,
    Aap bhadhai ke patra he,aapne bahut achchi kavitaye likhi he.me kota se hu aur app bhi kota se to laga hamare kota me bhi intane achche kavi he,garve hota. mene aaj hi aapki side ko dekha me google par hindi kavitaye thud raha the. bhgawan se dua ki app aur bhi achchi kavitaye likhte jaye aur hem unko padhte jaye aur anand me jhum jaye.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s