लम्हो का एक साल

Standard

आज से एक साल पहले मैंने comments करी थी ब्लोगस पर , हिन्दी कैसे लिखूँ ब्लोग पर ?

मेरे ब्लोग http://hemjyo.wordpress.com पर मुझे सबसे पहले जो प्रतिक्रिया मिली वो एक जवाब था somen का (जिन से मैंने पुछा था ) उन्होने मुझे एक लिंक दिया और बताया के वहाँ में हिन्दी लिखूँ सकती हूँ और फ़िर उसे copy-paste करलूँ बस फ़िर क्या था मैंने हिन्दी में ब्लोग लिखना शुरु किया और आज लम्हे ज़िन्दगी के ने एक साल पूरा किया

और लम्हे जिन्दगी के पर जो पहली प्रतिक्रिया आई वो वहाँ से जहाँ मैंने पुछा था हिन्दी लिखने के लिये मेरे दोनो ब्लोग पर जो पहली रचनाये थी वो उन दो comment का जवाब थी और उसके बाद से मेरे मन में ये बात घर कर गई के ब्लोगर…. बहुत अच्छे और सभ्य होते हैं जो किसी अन्जान की मदद बिना सोचे करते हैं

वो यहीं कहीं है

काश ऐसा होता..

ये मेरी उन दो comment के लिंक हैं जो मैने सबसे पहले की
और ये उनके जिन पर उन दो के जवाब आये

आज से ठीक एक साल पहले 2 मार्च को लम्हे ज़िन्दगी पर पहली पोस्ट प्रकाशित हुई थी

https://hemjyotsana.wordpress.com/2007/03/02/kalpnaaye-saari/

मार्च मैं कुल 4 रचनायें प्रकाशित हुई

अप्रैल और जुन में कुछ पोस्ट नही किया मई में 6 पोस्ट प्रकाशित की और फ़िर जुलाई से हर माह पोस्ट करती रही

और कोशिश करुगी के आगे भी अच्छा लिखती रहूँ

456comments (438 others+18 my own )
63 post
22774 hits
इस एक साल में बहुत कुछ सीखा है यहाँ कई , सिखाने वाले गुणीजन मिले , जिनसे बहुत कुछ सिखा है आगे और सीखना है

शुक्रिया आप सब भी का जिन्होने मुझे पढा सराहा सुधारा ।

सादर

हेम ज्योत्स्ना पाराशर “दीप”

लम्हे जिन्दगी के

8 responses »

  1. डा. रमा द्विवेदी said….

    हेमा जी,

    ब्लोग लेखन का एक वर्ष पूर्ण होने पर बधाई एवं शुभकामनाएं…..लिखती रहें बस लिखती रहें यही आशीर्वाद है….

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s